शुक्रवार रात देर में भूकंप की तेज झटके ने दिल्ली-एनसीआर को हिला दिया 

इस भूकंप की भूकंप स्केल पर मापी गई तीव्रता 6.4 थी, जो नेपाल में महसूस हुई। यह भूकंप दिल्ली, NCR, यूपी, और बिहार में भी महसूस किया गया 

भूकंप के झटके के बाद लोग अपने घरों से बाहर निकले, लेकिन तीव्रता नेपाल में सबसे अधिक थी। यह दूसरा भूकंप था, 22 अक्टूबर को भी दिल्ली में तीव्रता 6.1 के साथ हुआ था 

धरती के नीचे मौजूद तेक्टोनिक प्लेटें अपनी जगह से खिसकती रहती हैं और इससे भूकंप होता है 

वैज्ञानिकों का कहना है कि ये प्लेटें साल में 4-5 मिमी की गति से हिलती रहती हैं, जो भूकंप के कारण बनती है 

धरती के नीचे की तेक्टोनिक प्लेटें की टक्कर से होता है भूकंप 

सुरक्षा के लिए, भूकंप के समय गहरे दरारों वाले स्थान से दूर जाएं और सुरक्षा के लिए जरूरी कदम उठाएं।