Canara Bank Share Price:विभाजन के बाद केनरा बैंक के शेयरों में 5% की तेजी आई।

केनरा बैंक के शेयरों में हाल ही में विभाजन (स्टॉक स्प्लिट) की खबर आई है, जो निवेशकों के लिए महत्वपूर्ण है. आइए इस खबर को विस्तार से समझते हैं.

विभाजन (स्टॉक स्प्लिट) क्या है?

स्टॉक स्प्लिट में मौजूदा शेयरों को कम फेस वैल्यू वाले नए शेयरों में विभाजित किया जाता है. इससे कंपनी के शेयरों की कुल संख्या बढ़ जाती है, लेकिन कंपनी की कुल पूंजी में कोई बदलाव नहीं होता. यह बोनस शेयर जारी करने से अलग है, जहां कंपनी मुनाफे को शेयरधारकों में बांटने के लिए अतिरिक्त शेयर जारी करती है.

केनरा बैंक में विभाजन (स्टॉक स्प्लिट) का प्रभाव

  • शेयरों की वहनीयता (अफोर्डेबिलिटी) बढ़ी: पहले 10 रुपये फेस वैल्यू वाले शेयर अब 2 रुपये फेस वैल्यू वाले 5 शेयरों में विभाजित हो गए हैं. इससे छोटे निवेशकों के लिए इन शेयरों को खरीदना अधिक किफायती हो गया है.
  • तरलता (लिक्विडिटी) में सुधार: विभाजन के बाद शेयरों की संख्या बढ़ने से बाजार में इनका लेन-देन अधिक आसानी से हो सकेगा, जिससे तरलता में सुधार होगा.
  • रिटेल निवेशकों का आधार बढ़ना संभावित: कम कीमत के कारण अब अधिक रिटेल निवेशक बैंक के शेयरों में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित हो सकते हैं.

केनरा बैंक में स्वामित्व पैटर्न

  • 31 मार्च 2024 तक, 7,39,996 रिटेल निवेशकों (2 लाख रुपये तक के शेयर रखने वाले) के पास बैंक का 6% हिस्सा था.
  • वहीं, 337 हाई नेटवर्थ इंडिविजुअल्स (HNI) जिनमें रेखा राकेश झुनझुनवाला (1.45% हिस्सेदारी) भी शामिल हैं, के पास कुल मिलाकर बैंक का 4.65% हिस्सा था.

विभाजन के बाद बैंक का प्रदर्शन

विभाजन के बाद आज (15 मई 2024) के कारोबार में केनरा बैंक के शेयरों में लगभग 5% की बढ़ोतरी देखी गई. जेएम फाइनेंशियल का मानना है कि बैंक के लगातार स्थिर शुद्ध ब्याज मार्जिन, ऋण लागत में कमी और कई तिमाहियों से 1% के आसपास संपत्ति पर प्रतिफल (रिटर्न ऑन एसेट्स) के चलते कनारा बैंक के प्रदर्शन में आगे भी सुधार आने की संभावना है.

निष्कर्ष

केनरा बैंक बैंक में विभाजन का कदम रिटेल निवेशकों के लिए बैंक के शेयरों में निवेश को आकर्षक बना सकता है और बैंक के भविष्य के प्रदर्शन को सकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है.

Leave a Comment